शनिवार, 10 अक्तूबर 2015

जय बिहार

क्या कभी आपने सोचा है कि बेरोजगारी, अतिवृष्टि, अनावृष्टि, बाढ़, सुखा और लोगों का जत्थे से जत्थे में हो रहे पलायन, इत्यादि समस्यायों से घिरे राज्य बिहार का भारत के प्राचीन परम्परा से लेकर आजतक क्या योगदान रहा है? जनक, जरासंध, कर्ण, सीता, कौटिल्य, चन्द्रगुप्त, मनु, याज्ञबल्कय, मण्डन मिश्र, भारती, मैत्रेयी, कात्यानी, अशोक, बिन्कुसार, बिम्बिसार, से लेकर बाबू कुंवर सिंह, बिरसा मुण्डा, बाबू राजेन्द्र प्रसाद, रामधारी दिन्कर, नार्गाजून और न जाने कितने महान एवं तेजस्वी पुत्र एवं पुत्रियों को अपने मिट्टी में जन्म देकर भारत को विश्व के सांस्कृतिक पटल पर अग्रणी बनाने में बिहार का सर्वाधिक स्थान रहा है। आज भी देश को सबसे अधिक आईएएस, पीसीएस ऑफिसर देने वाला राज्य बिहार ही है। फिर आज बिहार विश्व का सबसे गरीब राज्य क्यों है? बिहार की जीडीपी भारत की कुल जीडीपी का दसवां हिस्सा भी नहीं हैं और विकास दर २८% होने के बाद भी वह भारत के राष्ट्रिय औसत से कहीं पीछे है और स्थिति सुधरती दिख भी नहीं रही।
भारत के राष्ट्रीय राजनीति से काफी अलग है बिहार और यहाँ स्थिति बहुत बुरी तरह से उलझी हैं। जाति के कुचक्र में उलझा बिहार आज भी उस उहापोह की स्थिति से बाहर नहीं निकल पाया। आज भी विपक्षी जाति के ध्रुवीकरण के लिए उलटे सीधे पैतरे आज़मा रहे हैं। इस बार का चुनाव असल में बिहार की परीक्षा है। देखना होगा कि बिहार क्या फैसला लेता है। वैसे मेरा मानना है कि लोकतंत्र में जनता हमेशा सही फैसला देगी यह सच नहीं, 2004 में कांग्रेस की वापसी जनता की विफलता थी। बहुसंख्यक समाज का वोट से दूर रहना और सिर्फ पचास फीसदी वोट ने कांग्रेस की वापसी करा दी थी। 2015 में दिल्ली चुनाव में इमाम के फतवे से पूरा मुस्लिम वोट बैंक आआपा को शिफ्ट होने से भाजपा बुरी तरह परास्त हुई थी। मुझे उम्मीद है कुछ वैसा ही बिहार चुनाव में भी होगा, जाति समीकरण की जोड़ तोड़ या फिर विकास, देखते हैं बिहार किसे चुनता है। यदि लालू या नितीश की वापसी होती है तो मुझे घनघोर निराशा होगी। इसलिए नहीं कि मैं बिहारी हूँ, बल्कि इसलिए क्योंकि मैं जानता हूँ कि बिहार की दुर्दशा के लिए ज़िम्मेदार सिर्फ और सिर्फ बिहार ही है। जातिवाद के घनघोर चक्रव्यूह में घिरे हुए मानस पर विकास की बयार कैसे आएगी देखना होगा।
कल न्यूयॉर्क के टाइम्स स्क्वायर पर लिट्टी पर चर्चा के कार्यक्रम के दौरान मैं यहाँ के बिहारी समुदाय से मिलकर इस पर चर्चा करने का प्रयास करूँगा और देखते हैं इसका क्या परिणाम निकलता है। आपको बताऊंगा कल की खबर…
फ़िलहाल अभी के लिए नमस्कार.... जय भारत और जय बिहार।
---न्यूयॉर्कर बिहारी

2 टिप्‍पणियां:

ब्लॉग बुलेटिन ने कहा…

ब्लॉग बुलेटिन की आज की बुलेटिन, मैं और एयरटेल 4G वाली लड़की - ब्लॉग बुलेटिन , मे आपकी पोस्ट को भी शामिल किया गया है ... सादर आभार !

Rushabh Shukla ने कहा…


सुन्दर रचना ......
मेरे ब्लॉग पर आपके आगमन की प्रतीक्षा है |

http://hindikavitamanch.blogspot.in/
http://kahaniyadilse.blogspot.in/