बुधवार, 15 सितंबर 2010

बनारस की यात्रा.....


जय राम जी की भाई लोगों.... देव बाबा खो गए थे यार कुछ दिनों से.... इ सरवा इन्टरनेट दुखी किया था भाई। ससुरा कनेक्ट होता था अऊर कोनो साईट खोलैबै नहीं करता था। ना मालूम कौने कौने किस्म का वायरस हमरे लैपटापवा में भरा है। बहरहाल आज डाक्टरी दिखाए अऊर लैपटाप को ठीक किये, इत्ते दिन के बाद आज अपना जी-मेल देखै.... इत्ता मेल रीडिंग करै के हौ की का बताई।

वईसे ई बीच में देव बाबू और मनीषा जी बनारस गये और बंगलौर गये.... बडी मस्त मजा किये भाई। भैया देव बाबू बनारस का मजा ई फ़ोटुआ दिखा कर एक्सप्लेन करेंगे।





वईसे एक और बात जो ध्यान देने योग्य है वह यह की बनारस में हमारे मामा श्री को पुत्र रत्न की प्राप्ति हुई। छोटा भाई आया देव बाबू का और मनीषा जी भी खुश... भई देवर आया है ना। लीजिए हमारे छोटे बाबू को आशीर्वाद दीजिए।


भई वाह.... मजा आ गया.... बोलो मामा श्री की जय.....

अब देखिए भाई देव बाबा की ई रूप.... शादी करके कूली बन गये हैं.....


रास्ते में ट्रेन से खींचे हुए कुछ चित्र......





बहुत अच्छा.... चारो ओर हरियाली ही हरियाली..... वाह वाह.... देव बाबू के कुछ अन्य चित्र......




आज की पोस्ट यहीं तक.... कल बंगलौर की यात्रा का विवरण दूंगा......

:-देव

8 टिप्‍पणियां:

प्रवीण पाण्डेय ने कहा…

बंगलोर में स्वागत है।

alka sarwat ने कहा…

तो वायरस फीवर जड् से खत्म हो गया कि अभी लैपटाप महाराज अंडर ट्रीटमेंट हैं?
वैसे कुली बनकर तो अमिताभ भी हिट हो गये थे

देव कुमार झा ने कहा…

लैपटाप महाराज अभी तो ठीक से चल रहे हैं... लाईनक्स पर स्विच करनें का विचार बना रहे हैं आज कल....

Vivek Rastogi ने कहा…

वाह यहाँ तक की यात्रा का विवरण तो अच्छा रहा,, पूरी यम्म य्म्म

Pratul ने कहा…

आपकी मस्ती देखकर जीवन के सुनहरे पक्ष के दर्शन हो जाते हैं. भई भरपूर आनंद आता है.

शिवम् मिश्रा ने कहा…


बेहतरीन पोस्ट लेखन के बधाई !

आशा है कि अपने सार्थक लेखन से,आप इसी तरह, ब्लाग जगत को समृद्ध करेंगे।

आपकी पोस्ट की चर्चा ब्लाग4वार्ता पर है-पधारें

संजय भास्कर ने कहा…

यात्रा का विवरण तो अच्छा रहा

संजय भास्कर ने कहा…

आपकी मस्ती देखकर आनंद आता है.