मंगलवार, 31 अगस्त 2010

देव बाबु और मनीषा जी की पहली यात्रा.....

जैसे ही दो दिन की छुट्टी लेने का प्लान हुआ देव बाबु ने बनारस की ट्रिप बना डाली, बंधुओं कल देव बाबु और मनीषा जी रात में महानगरी एक्सप्रेस से बनारस की यात्रा पर निकलेंगे.... आज कल की आपा-धापी में जब अम्मा को बताया की बनारस आ रहा हूँ.... अम्मा की मुस्कान और अम्मा की आवाज़ में आ गयी चमक ने ख़ुशी को हज़ारो गुणा बाधा दिया.... वाह वाह.... बहुत दिनों से मन हो रहा था की अम्मा के पास जाऊं... अम्मा की गोदी में सर रख कर कुछ आराम के पल बिताऊं.... कहने को तो शादी विवाह हो चुका है और अब अकेले से दुकेले हो चुके देव बाबु.... मगर अभी भी अम्मा के सामने तो बच्चे ही हैं ना... मेरी अम्मा.....

ना जाने जबसे ट्रेन की टिकट कटाई है.... बस रह रहकर अपना घर और आँगन याद आ रहा है.... इससे पहले जब बनारस गए थे तो शादी व्याह के कार्यक्रम और व्यस्तता के चलते ठीक से अम्मा से बात भी नहीं कर पाए थे.... मगर आज ऐसा लग रहा है जैसे कुछ पल अपने लिए चुरा लिए हैं..... कुछ पलों का आराम.... और कुछ पलों के लिए अपने घर जाने से बढ़कर कोई और ख़ुशी नहीं हो सकती है..... सही कही ना....

मेरा घर मेरा आँगन.....
वह गलियां, वह बाग़ बगीचे....
एक ऐसी दुनिया.....
जहाँ मेरा वजूद रहता है....

....
....
....

शायद बहुत कुछ लिख जायेंगे..... बस भावनाएं समझिये.... और मनीषा जी की देव बाबु के साथ पहली ट्रेन यात्रा के लिए शुभकामनायें दीजिये..... देव बाबु को तो इ भोजपुरिया ट्रेन में यात्रा करने का पुराना अनुभव है.... मगर मनीषा जी के लिए यह अनुभव शायद अलग होगा.... एक और ट्रेन की यात्रा..... तैयार हो जाइए..... एक पोस्ट और आएगी..... महानगरी एक्सप्रेस के यात्रियों के साथ हमारी और मनीषा जी की यात्रा वृत्तान्त के रूप में ..... अभी आज के लिए बहुत हुआ... अब सोने जा रहे हैं....

:-देव

4 टिप्‍पणियां:

Udan Tashtari ने कहा…

शुभकामनायें.......भावनायें समझ गये. :)

घूम कर आओ फिर किस्से सुनाना.

राम त्यागी ने कहा…

सावधान भारतीय रेल !! हमारे देव बाबा तशरीफ ला रहे हैं ...चलो इन्तजार रहेगा आगे के विवरण का ....

प्रवीण पाण्डेय ने कहा…

माँ की गोदी में सर रख कर मनीषाजी की जो भी शिकायत हो, कर दीजियेगा।

Vivek Rastogi ने कहा…

अच्छा है

बधाई घर जाने की, अपने शहर अपने लोगों के पास जाने की.... दो दिन कैसे गुजर जायेंगे आपको पता ही नहीं लगेगा। यात्रा के लिये शुभकामनाएँ।