शुक्रवार, 28 मई 2010

जय हो यू ब्रोडबैंड के अकर्मण्य इंजीनियर लोगों की

दुनियां में एक से एक नमूनें भरे हुए हैं यार... एक ढूंढो हज़ार मिलेंगे... कोई कोई तो ऐसे नमूनें होंगे जिनके बारे में जो कहा जाए कम है। दर-असल आज देव बाबा थोडे खराब मूड में हैं और अभी अभी कस्टमर केयर वाले को खूब गरिया आए हैं। दर-असल हुआ यह है की कोपर खैरणे, नवी मुम्बई में आनें के बाद से ही इंटरनेट लगवाने का प्रयास कर रहा था और फ़िर ढूंढ रहा था की कोई आसानी से काम हो जाए तो फ़िर अच्छा रहे। टाटा और रिलायंस के डाटा कार्ड पर भरोसा किया नहीं जा सकता यार, एकदम फ़ुलझडी की तरह कनेंक्शन होता है इनका.. तो फ़िर सोसाईटी में किसी नें सजेस्ट किया यू ब्रोडबैंड... बोले लोकल है आसानी से लग जाएगा। इनका इक्ज़ीक्यूटिव भी बडे प्रेम से बोला की आज शाम को डाक्य़ूमेट्स कलेक्ट कर लेता हूं सर और फ़िर दो दिन में कनेक्शन रेडी। वह भी बिना इंस्टालेशन चार्जेज़ के... बस फ़िर क्या, देव बाबा झांसे में आ गये और अपनें ही हाथों से चेक काट के दे दिया। बस फ़िर क्या तबसे लेकर आज तक बस इंतज़ार ही कर रहा हूं...

आज शाम को इंतज़ार हद से पार हो गया यार... सोमवार को बोला गया की बस एक दिन और... मंगलवार को बस एक दिन और... और आज शुक्रवार को भी उत्तर मिला की एकदिन और... भैया दिमाग खराब... हद तो तब हुई जब इनके इंजीनियर को फ़ोन किया तो उसनें देव बाबा का फ़ोन ही काट दिया... अब तो भैया मामला बरदाश्त से बाहर हो गया। सीधा कस्टमर केयर को काल किया और बोला की भैया यह ड्रामा है क्या तुम्हारा... कम से कम स्पष्ट बताओ तो की अभी कितने दिन और इंतज़ार करना है... एक सप्ताह, एक महीना... एक साल... कम से कम बताओ तो। कस्टमर केयर वाला इनका भी बाप निकला... वह बोल रहा है की आपका कस्ट्मर नम्बर क्या है। ले तेरी... ना मालूम कैसे बन्दे पाल रखे हैं, केवल कस्टमर को मूर्ख बनाना ही जानते हैं क्या। वैसे आज हमनें इनको बोला भैया की अगर तुम्हारा बन्दा कल दोपहर को बारह बजे तक नहीं आया तो फ़िर भैया कभी भी मत आना । हम और कोई दूसरा जरिया तलाश लेंगे। और अगर कल दोपहर के बारह बजे के बाद तुम्हारा बन्दा आया तो मैं उसके पिछवाडे दो लात लगाके भगा दूंगा। सोचूंगा की कोई चोर मेरी जेब काट के ले गया मगर ऐसे झूठों से कोई काम नहीं लेना । यार कल को क्या मालूम कोई कम्प्लेन करानी हो ये ससुरे तो फ़ोन ही काट देंगे। जिस सम्बन्ध में बन्दा पहले ही हिंट दे रहा है की सामनें वाली पार्टी बेकूफ़ है तो फ़िर यार जानबूझ कर काहे को फ़ंसना। यू ब्रोडबैंड... धन्य है तू और धन्य हैं तेरे बन्दे... एक नम्बर के झूठे कहीं के ।

भला हो मेरे वोडाफ़ोन कनेक्शन का जो पीसी कनेक्टिविटी दे रहा है तो कम से कम अपनी पोस्ट तो डाल पा रहा हूं वरना तो भैया एकदम ही ब्लाक हो जाना था... अभी आप लोग बताईए हरामखोरों की एसी कम्पनी से इंटरनेट लेना वाजिब होगा? जो पहले ही ऐसा नाटक कर रहे हैं वह तो फ़िर बाद में पूरा पैसा लेने के बाद कैसी नौटंकी दिखायेंगे... आखिर क्यों लोग झूठ बोलकर अपने धन्धे को चमकाना चाहते हैं... हम लोग भी तो कस्टमर केयर और सर्विस इंडस्ट्री से ही जुडे हैं आखिर अपनें काम से जी चुराने और सामने वाले को बेवकूफ़ बनानें का ख्याल अपनें दिमाग मे तो कभी नहीं आया... यार दिन का खाना नाश्ता लेट हो जाए कोई बात नहीं मगर कस्टमर की बात सबसे पहले... और यह लोग जो सीधा ही कस्टमर से जुडें हुए हैं और ऐसी हरामखोरी दिखा रहे हैं... आखिर कम्पनी के मालिक आखिर कर क्या रहे हैं... आखिर नाकारा इंप्लोईज़ की फ़ौज क्या इनका नाम नहीं खराब कर रही है? अभी कम से कम एक दुश्मन देव बाबा के रुप में इन्होनें तो बना ही लिया है और वाकई में भैया इनका कनेक्शन तो लेना नहीं है। कोई और विकल्प ही तलाशना सही है... इन नाकारों को ऐसे ही रहनें दो... बिना मतलब इनके पीछे सर खपानें से क्या लाभ...

मगर फ़िर भी जय यू बोर्डबैंड के अकर्मण्य इंजीनियर लोग... कम्बख्त देव बाबा को ही बेवकूफ़ बना डाला

-देव

7 टिप्‍पणियां:

माधव ने कहा…

really a bitter experience, but why you have chosen Private broad band Company, the private telecom companys are Docait, they are looting the people broad day light.

my experience suggest you to chose to MTNL Broad band, high speed internet 1 MBPS speed @ Rs 999/per Month, unlimited use

शिवम् मिश्रा ने कहा…

शांत हो देव बाबा शांत !! सब ठीक होगा| कोई और ISP try करना!

राजेन्द्र मीणा ने कहा…

दो नमूने तो यही है भाई,,,, तलाशो मत....पहले आप और दूजा मैं ......:) रोचक पोस्ट ,,,,,पर काम शांति से चेलगा ...गर्मी में गर्माओ मत ..कहो तो एक ठंडी लस्सी भेजू ....

भारतीय नागरिक - Indian Citizen ने कहा…

कस्टमर का मतलब जानते तो कष्ट नहीं होता... इसका अर्थ है वह बन्दा जो कष्ट से मरे अर्थात कस्टमर...

M VERMA ने कहा…

लगता है आपको धमकाना नही आता. कहीं आप मुस्कुराते हुए तो नहीं धमकाते? मैं माधव से सहमत हूँ आपको MTNL ट्राई करना चाहिये. यहाँ दिल्ली में तो यही cheap and best है.

Udan Tashtari ने कहा…

देव बाबा से पंगा...मूरख लोगों को नहीं पता कि उन्होंने किससे दुश्मनी ले ली.


शांत हो जाओ देव बाबा...नये आये होंगे धंधे में..इसलिए आपको पहचान नहीं पाये!! :)

Suman ने कहा…

nice