बुधवार, 14 अप्रैल 2010

कुछ गीत

वैसे कहा जाता है शब्दों की कोई भाषा नहीं होती... दुनियां में मन की भावना से भी काम चल जाता है.... किशोर कुमार की मधुर आवाज़ में यह दो गीत ना मालूम क्यों आज मुझे कुछ अधिक ही भा रहे हैं.... शायद मन की भावना को प्रकट करने के लिए यह गीत अच्छा माध्यम हो...




1 टिप्पणी:

संजय भास्कर ने कहा…

बहुत बेहतरीन, आभार.